Janmasthami 2021 : Latest Radhe Krishna Status

Janmasthami : जब धर्म का विनाश और अधर्म बढ़ जाता हे तब भगवान कोई ना कोई रुप से अवतरित होके अधर्म का नाश करते है. ऐसी ही जब कंस नामक राकक्ष का अत्याचार बढ़ गया तब प्रभु श्री हरि विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार लेके अधर्म का नाश करके धर्म का संचार किया था.
द्वापर युग में जब अधर्म बढ़ गया तब सावन मास के अष्ठमी के दिन प्रभु कृष्ण का अवतार हुआ था. भगवान विष्णु के जन्मदिन का ये दिन जन्मास्टमी के रूप में जाना जाता हे. इस दिन सब लोग कान्हा के जन्म का उस्तव मनाते हे, कान्हा और राधा का पवित्र प्रेम की ये गाथा हे. और इस अवतार से मनुष्यो को प्रेम की महिमा समजाते हे. हम आप लोगो के लिए इस जन्माष्ठमी ( Janmasthami ) के लिए कुछ स्टेट्स प्रस्तुत करते हे जिसे आप व्हाट्सप्प, फेसबुक और अन्य सोसिअल मिडिया पे शेर क्र सकते हे. राधे राधे ||

Janmasthami 2021 : कृष्ण जन्माष्टमी 2021

तेरे ही रंग में रंग जाऊ,
मिले जन्म जन्म मेरे राधे।

कान्हा का एक नाम “राधे”,
प्रकृति और प्रेम का मिलन हे,
“राधे राधे”

यशोदा का दुल्हारा है,
गोपियो का प्यारा है,
सबका मनमोहक नटखट कान्हा है..
Radhe Krishna

मखन मिसरी खूब चुराए,
माँ के आँचल में छुप जाय,
बड़े बड़े नखरे दिखाए,
छोटा सा खिलौना है मेरा श्याम सलोना है…
Janmasthami 2021

सुनो राधे, मुझे रूठने का पूरा हक हे,
किन्तु, तुम्हे! मुझे मनाने का,
यही तो प्रेम हे…

प्रेम ही जीवन हे,
और जीवन ही तो प्रेम हे…
राधे राधे

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर अपने प्रियजनों को भेजें ये स्टेटस : Janmasthami 2021

नंद घेर आनंद भयो,
जय कनैया लाल की…

दीवानों की टोली है मस्तानो की बोली,
हर आँगन में तुलसी रंगोली है,
ऐसी मीठी वानी है बरसाना की सुंदर राधा रानी है…

जन्माष्ठमी के इस पावन पर्व पर,
आप सबको बहुत शुभकामनाए…
राधे कृष्णा

मत पूछो वजह चाहत की,
बस पसंद हो तुम मुझे बे वजह यारा…

सच्चे रिश्ते कुछ नहीं मांगते,
सिवाय वक़्त और इज्जत के…
राधे राधे

Happy Krishna Janmashtami 2021 : heartbeatpain.com

नंद का लाला वृदांवन में धूम मचाए
मखन चुराए गैया भी चराय वो
मोहन मनोहरी सूरत
सबसे सुंदर इसकी मूरत
सैतानी का नाना है
ये तो मेरा कान्हा है…

जन्माष्ठमी के इस पावन पर्व पर,
आप सबको बहुत शुभकामनाए…
राधे कृष्णा

कालिया को मार गिराया,
गोवर्धन पर्वत को उठाया ऐसे,
मेरे लल्ला है वो तो बिल्कुल जल्ला है

मटकी फोड़े गलियों में घूमे
गोपियों के संग संग जुमे,
नटखट श्याम सलोना है इसके रंग में ओर
प्यार से रंगा मेरे दिल का कोना कोना है…

जब भी कोई स्री गहरे प्रेम में होती हे तो,
राधा हो जाती हे, और कोई पुरुष गहरे प्रेम में,
होता हे तो कृष्ण हो जाता हे…

Scroll to Top